On feeling the pain

चुप-चाप सुलगता है दिया, तुम भी तो देखो
किस दर्द को कहते हैं वफ़ा, तुम भी तो देखो
~बशर नवाज़