On mistakes and misunderstanding

ग़लतियाँ सुधारीं जा सकतीं थी
ग़लतफ़हमियां नहीं