Gulzar and his obsession with चांद

चांद का टीका मथे लगा के,

रात दिन तारों में जीना बीना easy नहीं

.

चांद उठा चल toss करें,

चेहरा तेरा और चाल मेरी

.

चांद से होकर सड़क जाती है,

उसी पे आगे जा के अपना मकान होगा

.

.

Chand ka tikka mathe laga ke,
Raat din taaron mein jeena beena easy nahi

.

Chand utha chal toss karein,
Chehra tera aur chaal meri

.

Chand se hokar sadak jati hai,
Usi pe aage ja ke apna makaan hoga